Birbal and The Magic Sticks

Birbal and The Magic Sticks Story

Once a rich merchant came to Birbal. He told Birbal: “There are seven servants in my house. One of them stole my bag of precious pearls. Please find the thief. “

So Birbal went to the rich man’s house. He called all seven servants in the room. He gave each of them a stick.

Then he said, “These are magic wands. It’s just that now all these sticks are the same length. Keep them with you and come back tomorrow. If there is a thief in the house, his stick will grow an inch longer by tomorrow. “

Also Read  The Hodge And The Crow

The servant who stole the pearl bag got scared. He thought, “If I cut off an inch of the stick, I won’t be caught.”

So he cut off the stick and made it one inch shorter. The next day, Birbal took the sticks from the servants. He found that one servant’s stick was an inch shorter.

Birbal pointed his finger at him and said: “Here is a thief.” The servant confessed to his crime. He returned the bag of pearls. He was sent to prison.

Also Read  Teeth Of The Elephant

Birbal and The Magic Sticks Story In Hindi

एक बार एक धनी व्यापारी बीरबल के पास आया। उसने बीरबल से कहा: “मेरे घर में सात नौकर हैं। उनमें से एक ने मेरा कीमती मोतियों का थैला चुरा लिया। कृपया चोर का पता लगाएं। “

अत: बीरबल धनी व्यक्ति के घर गया। उसने सभी सात नौकरों को कमरे में बुलाया। उसने उनमें से प्रत्येक को एक छड़ी दी।

फिर उसने कहा, “ये जादू की छड़ी हैं। बात बस इतनी है कि अब ये सभी छड़ें एक ही लंबाई की हैं। उन्हें अपने पास रखो और कल वापस आ जाओ। अगर घर में चोर है तो कल तक उसकी छड़ी एक इंच लंबी हो जाएगी। “

Also Read  The Ugly Duckling

मोती की थैली चुराने वाला नौकर डर गया। उसने सोचा, “अगर मैं छड़ी का एक इंच भी काट दूं, तो मैं पकड़ा नहीं जाऊँगा।”

इसलिए उसने छड़ी को काट दिया और उसे एक इंच छोटा कर दिया। अगले दिन बीरबल ने नौकरों से लाठियाँ लीं। उसने पाया कि एक नौकर की छड़ी एक इंच छोटी थी।

बीरबल ने उस पर उंगली उठाई और कहा: “यहाँ एक चोर है।” नौकर ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। उसने मोतियों का थैला लौटा दिया। उसे जेल भेज दिया गया।